गगनयान मिशन 2022 अपडेट | इसरो बनाने जा रहा है तीसरा लांच पैड

गगनयान मिशन 2022 अपडेट | इसरो बनाने जा रहा है तीसरा लांच पैड

दोस्तों आप सभी तो जानकार ख़ुशी होगी की इसरो देश का तीसरा लांच पैड बनाने जा रहा है। तीसरा लांच पैड श्रीहरिकोटा में ही बनाया जायेगा। इस लांच पैड से भारत अपना गगनयान 2022 में भेजेगा। गगनयान भारत की महत्कांक्षी योजना है अंतरिक्ष में भारतीय आंतरक्ष यात्री को भेजने की। यह योजना 2022 तक पूरी की जाएगी इसके साथ ही भारत एशिया का पहला देश होगा जो खुद के बल पर अंतरिक्ष में पहुंचा होगा।

इसरो को तीसरे लांच पैड की जरुरत क्यों पड़ी?

दोस्तों आपने पड़ा ही होगा की इसरो अगले 6 महीनो में 18 मिशन को पूरा करेगा। इन मिशन को इसरो अपने दोनों लांच पैड से लांच करेगा। ऐसे में गगनयान के लिए अलग से लॉन्चिंग पैड की जरुरत पड़ी ताकि इसरो अपने PSLV मिशन को बिना परेशानी के पूरा कर सके। श्रीहरिकोटा में ही इसरो अपना तीसरा लांच पैड बना रहा है।

रूस करेगा भारत के अंतरिक्ष यात्रिओ की ट्रेनिंग में मदद | गगनयान मिशन 2022

इसरो चौथा लांच पैड गुजरात में बनाने जा रहा है

दोस्तों एक नई खबर यह है की अब इसरो छोटी सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में भेजने के लिए गुजरात में एक नई लांच पैड बना रहा है। गुजरात के लांच पैड से SSLV के द्वारा इसरो छोटी सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में भेजेगा। SSLV असल में इसरो द्वारा बनाया गया सबसे छोटा राकेट है जो काम वजन वाली सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में ले जाने में सक्षम है। स्सल्व का निर्माण विदेशी अंतरिक्ष कंपनी SPACE-X से मुकाबले के लिए ही बनाया गया है। SSLV के कारण अब इसरो छोटी कंपनी के सैटेलाइट्स को भी सस्ते दाम पर अंतरिक्ष में भेजने में सक्षम हो पायेगा। SSLV का लांच पैड गुजरात में बनाने की सम्भाना है। इसके लिए इसरो ने लांच पैड साइट ढूंढ़ना भी शुरू कर दिया है।

image source ISRO

Please follow and like us: