भारत रूस से खरीदेगा S-400 वायु रक्षा प्रणाली | अमेरिका लगाएगा अड़ेंगे

भारत रूस से खरीदेगा S-400 वायु रक्षा प्रणाली | अमेरिका लगाएगा अड़ेंगे

दोस्तों 4 अक्टूबर से रूस के राष्टपति व्लादिमीर पुतिन भारत के दौरे पर आ रहे है। भारत रूस का यह दौरा काफी महतवपूर्ण है। राष्टपति पुतिन अपने इस दौरे पर 10 करार भारत के साथ सिग्न करेंगे। इन सभी करारो में S-400 वायु रक्षा प्रणाली का सौदा सबसे जयदा महत्वपूर्ण है। S-400 के आलावा भारत रूस के मध्य 9 अतिरिक्त करार भी सिग्न किये जायँगे। रूस भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर विकास और रक्षा समझौते पर भारत की मदद करना चाहता है।

क्या अमेरिका भारत को रूस के साथ रक्षा समझौता करने देगा?

दोस्तों आप सभी जानते है की अमेरिका के राष्टपति ट्रम्प के आने के बाद आक्रामक रुख अपना लिया है। अमेरिका ने उत्तरी कोरिया, ईरान, टर्की, रूस आदि देशो पर आर्थिक प्रतिबंद लगा दिया है। अमेरिका ने रूस पर आर्थिक प्रतिबंधों के साथ साथ रक्षा प्रतिबन्ध भी लगा रखा है। ऐसे में अमेरिका भारत रूस रक्षा सौदे पर प्रतिबंद लगा सकता है। ऐसे में भारत रूस को इस करार को पूरा करने में दिकत अवश्य आएगी। आपको बतादे की अमेरिकी कानून कात्सा (CAATSA (Countering America’s Adversaries through Sanctions Act)) भारत और रूस के मध्य हो रहे इस करार में सबसे बड़ी अड़चन है। भारत और रूस को मिलकर कात्सा (CAATSA (Countering America’s Adversaries through Sanctions Act)) का हल ढूंढ़ना होगा। ऐसे में ये कहना जल्द बाजी होगी की अमेरिका भारत को ये करार करने दे। कात्सा कानून अमेरिका ने रूस के विरुद्ध बनाया है। जो भी देश रूस से रक्षा समझौते कर रहे है उन्हें कात्सा कानून के कारण दिकत का सामना करना पड़ता है।

सबरीमाला मंदिर में जा सकेगी महिलाएं सुप्रीम कोर्ट का एहम फैसला

रुसी राष्टपति के भारत दौरे के खास करार

दोस्तों भारत 2007 से ही रूस का वायु रक्षा तंत्र S-400 को खरीदने के कोशिश कर रहा है। भारत में पहले से ही रूस का S-300 सिस्टम मौजूद है। परन्तु पडोसी देशो का बढ़ता मिसाइल भंडार भारत के लिए खतरा बनता जा रहा है। ऐसे में भारत को जल्द से जल्द एक अत्याधुनिक वायु रक्षा तंत्र की आवश्यकता थी। इसलिए अभी मौजूद सभी वायु रक्षा तंत्र में रूस का S-400 सबसे सही चुनाव था।

Please follow and like us: